Fullerton India Credit Co. Ltd. is Now SMFG India Credit Co. Ltd.

सिबिल स्कोर के बिना पर्सनल लोन कैसे प्राप्त करें

Published on Oct 5, 2023Updated on May 3, 2024

सिबिल स्कोर के बिना पर्सनल लोन कैसे प्राप्त करें

SMFG India Credit से पर्सनल लोन पाने के लिए जरूरी योग्यता तो होनी ही चाहिए। साथ ही, आपका सिबिल स्कोर भी कम से कम 750 होना चाहिए। सवाल है कि लोन लेने में सिबिल स्कोर की जरूरत क्यों पड़ती है और कोई अगर बिना सिबिल स्कोर के पर्सनल लोन लेना चाहेगा, तो कैसे मिलेगा?

सिबिल स्कोर का मतलब और पर्सनल लोन दिलाने में उसकी भूमिका

सिबिल स्कोर को ही क्रेडिट स्कोर कहते हैं। केवल नाम अलग अलग है। इस स्कोर से लोन लेने वालों के लोन चुकाने की क्रेडिट यानी विश्वसनीयता का पता चलता है। सिबिल स्कोर तीन अंको की एक संख्या है। यह 300 से 900 तक के बीच की होती है। इसे सिबिल नामक कंपनी तय और तैयार करती है। इस कंपनी का पूरा नाम ट्रांसयूनियन सिबिल लि. है। यही कंपनी किसी भी व्यक्ति का सिबिल या क्रेडिट स्कोर तय करती है।

अपना सिबिल स्कोर जानने के लिए क्रेडिट इन्फॉर्मेशन कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट https://www.cibil.com/ पर जाएं। वहां जैसा कहा जाए वैसा करते जाइये और जो जो जानकारी मांगी जाए वह भरते जाइये। आपसे जो दस्तावेज मांगा जाए, वह अपलोड कर दीजिए।

अपना सिबिल स्कोर जानने के लिए आपको अपनी सिबिल रिपोर्ट की जरूरत होगी। सिबिल रिपोर्ट के लिए आपको सिबिल की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन फॉर्म भरना होगा। इसमें एक बार ऑथेंटिकेशन प्रोसेस होगी और उस प्रोसेस के बाद आप सिबिल स्कोर और रिपोर्ट डाउनलोड कर सकते हैं।

क्या मुझे सिबिल स्कोर के बिना पर्सनल लोन मिल सकता है?

बिना सिबिल स्कोर के पर्सनल लोन मिलना संभव नहीं है। पर्सनल लोन अनसिक्योर्ड लोन होते हैं। इस कारण कर्जदाता वित्तीय कंपनी या संस्थान के लिए बिना क्रेडिट स्कोर वाले कर्जदारों को लोन देने से जुड़े जोखिमों का निर्धारण करना कठिन हो जाता है। ज्यादातर कर्जदाता लोन आवेदन की मंजूरी से पहले कर्जदार का अच्छा सिबिल स्कोर चाहते हैं।

अगर आप बिना सिबिल स्कोर के हैं और SMFG India Credit से पर्सनल लोन लेना चाहते हैं, तो सबसे पहले आपको अपनी क्रेडिट इतिहास बनाना शुरू करना होगा। हालांकि, यह काफी लंबी प्रक्रिया है।

आप निम्नलिखित विकल्पों को आजमा कर भी अपना सिबिल स्कोर बना सकते हैं, लेकिन ये विकल्प भी चुनौतीपूर्ण हैं।

संपार्श्विक यानी कॉलैटरल लोन:

कॉलैटरल ऐसी संपत्ति होती है, जिनको गिरवी रखकर आप लोन ले सकते हैं। आप बचत प्रमाणपत्र, सोना, शेयर और अन्य कीमती सामान जैसी अपनी संपत्ति को गिरवी रखकर लोन का विकल्प चुन सकते हैं। इससे आपको अपनी क्रेडिट यानी सिबिल यात्रा शुरू करने और अपनी क्रेडिट रिपोर्ट तैयार करने में भी मदद मिलेगी।

पीयर-टू-पीयर लेंडिंग:

यदि आप छोटी राशि की तलाश में हैं, तो आपके लिए पी2पी लेंडिंग बेहतर विकल्प है, लेकिन यह आमतौर पर उच्च ब्याज दर के साथ आता है यानी यहां से महंगा लोन मिलता है।

अपने माता-पिता या पति/पत्नी के क्रेडिट स्कोर का उपयोग करना: यदि आपके माता-पिता या पति-पत्नी का सिबिल स्कोर अच्छा है, तो आप अपने नाम के साथ उनका नाम जोड़कर संयुक्त लोन आवेदक के रूप में आवेदन करके पर्सनल लोन पा सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड प्राप्त करें:

यदि आप वेतनभोगी हैं और आपके पास बैंक खाता है, तो आप अपने बैंक से क्रेडिट कार्ड ले हैं। हालांकि, यदि आप इसके लिए पात्र नहीं हैं, तो आप अपनी एफडी यानी सावधि जमा खाता को गिरवी रखकर ओवरड्राफ्ट सुविधा पाने की कोशिश कर सकते हैं। इसके अलावा, आप परिवार के किसी ऐसे सदस्य के साथ संयुक्त क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन करें, जो इसके लिए पात्र हों। समय पर क्रेडिट कार्ड की बकाया राशि के भुगतान और जिम्मेदार उपयोग से सिबिल स्कोर बनाने में मदद मिलेगी।

आप ऊपर बताए गए विकल्पों का इस्तेमाल करके बिना सिबिल स्कोर के SMFG India Credit से पर्सनल लोन ले सकते हैं और पैसों की जरूरत झटपट पूरा कर सकते हैं। हालांकि, ये काम काफी मुश्किल और थकाऊ है।

लोन की पात्रता शर्तों के अलावा, सिबिल स्कोर से लोन लेने वाले आवेदक की लोन रकम और लोन की ब्याज दर तय होती है। अच्छा सिबिल स्कोर रहने पर कम ब्याज दर पर ज्यादा लोन रकम मिलने की उम्मीद रहती है, जबकि कम सिबिल स्कोर रहने पर ज्यादा ब्याज दर पर कम लोन रकम की संभावना रहती है या फिर पर्सनल लोन आवेदन रद्द भी हो सकता है।

खराब सिबिल स्कोर कैसे ठीक करें:

अगर खराब सिबिल स्कोर की वजह से आपको पर्सलन लोन नहीं मिल पा रहा है, तो सिबिल स्कोर या लोन मिलने की उम्मीद को बढ़ाने के लिए आप यहां दिए गए कुछ तरीके अपना सकते हैं।

1- अच्छी आय:

अच्छी और स्थिर आय रहने पर लोन की मंजूरी मिलने की उम्मीद बढ़ जाती है। हालांकि, SMFG India Credit का लोन एप्रूवल क्रेडिट स्कोर के अलावा आय सहित कई कारकों पर निर्भर करता है।

2- टैक्स का नियमित भुगतान:

लोन आवेदक द्वारा टैक्स का नियमित भुगतान लोन एप्रूवल की उम्मीद को बढ़ा देता

3- बैंक बैलेंस:

अच्छा बैंक बैलेंस किसी के लोन चुकाने की क्षमता को बढ़ाता है। इससे लोन मिलने की गुंजाइश ज्यादा रहती है।

4- गारंटर/ सह-गारंटर:

अच्छे सिबिल स्कोर वाले आप परिवार के किसी करीबी सदस्य से अपने पर्सलन लोन के लिए गारंटर या सह-आवेदक बनने के लिए कह सकते हैं।

5- लोन की राशि कम करें:

यदि आपका सिबिल स्कोर 750 से कम है, लेकिन एक निश्चित सीमा के दायरे में है, तो भी आपको लोन मिलने की उम्मीद है। आपको बस अपनी लोन रकम को थोड़ा कम करना है। हालांकि, ऐसे मामलों में ब्याज दर अधिक हो सकती है।

6- अपना कर्ज समय पर चुकाएं:

क्रेडिट कार्ड बिल के साथ साथ सभी ईएमआई का समय पर पुनर्भुगतान आपको अच्छा सिबिल स्कोर दिलाने में मदद करता है। SMFG India Credit अपने ग्राहकों को स्वचालित ईसीएस की सुविधा प्रदान करती है, ताकि ईएमआई राशि स्वचालित तरीके से ग्राहकों के खाते से हर महीने की तय तारीख को अपने आप डेबिट हो जाए। इस तरह, आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आप कभी भी ईएमआई भुगतान की समय सीमा नहीं चूकेंगे। इससे आपके सिबिल स्कोर में सुधार होता है। तो, सिबिल स्कोर अच्छा बनाए रखने के तरीके आप जान गए, ज्यादा जानकारी के लिए हमसे संपर्क करें या फिर पर्सनल लोन के लिए तुरंत ऑनलाइन आवेदन करें।

*कृपया ध्यान दें कि यह लेख केवल आपकी जानकारी के लिए है। लोन एस.एम.एफ.जी इंडिया क्रेडिट के पूर्ण विवेक पर वितरित किए जाते हैं। अंतिम अनुमोदन, लोन शर्तें, संवितरण प्रक्रिया, अवधि से पहले चुकाने की शुल्क और प्रक्रिया आवेदन के समय एस.एम.एफ.जी इंडिया क्रेडिट की नीति के अधीन होगी। यदि आप हमारे उत्पादों और सेवाओं के बारे में अधिक जानना चाहते हैं, तो कृपया हमसे संपर्क करें
हम अपनी सेवाओं में पूर्ण पारदर्शिता प्रदान करने के प्रयास करते हैं। हालाँकि, कृपया ध्यान दें कि इस पृष्ठ के अंग्रेजी और हिंदी संस्करण के बीच सामग्री में किसी भी अंतर के मामले में, अंग्रेजी पृष्ठ में दी गई जानकारी को अंतिम माना जाना चाहिए।

Was this helpful?

Yesyes vote
Nono vote
Sorry about that
How can we improve it:
Submit