Fullerton India Credit Co. Ltd. is Now SMFG India Credit Co. Ltd.

एसएमई/एमएसएमई लोन / रु. 75 लाख तक का एमएसएमई/एसएमई लोन पाएं

 

एसएमई या लघु और मध्यम उद्यम के रूप में पंजीकृत कंपनी को दिया गया लोन एसएमई लोन कहलाता है। दूसरी ओर, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के तहत पंजीकृत कंपनी एमएसएमई लोन की मांग करती है। एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट इन दोनों श्रेणियों के व्यवसायियों को लोन देता है। व्यवसायी लोन रकम से अचल संपत्तियों में निवेश करते हैं। इसके अलावा, वे लोन रकम से कार्यशील पूंजी के लिए अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए मशीनरी, उपकरण और कच्चा माल खरीदकर अपने परिचालन का भी विस्तार करते हैं। 

एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट लोन आवेदन के आधार पर एसएमई और एमएसएमई दोनों को प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर बिना कुछ गिरवी रखे रु. 75 लाख* तक का लोन दे सकता है। हमारे लोन समाधानों को अलग अलग ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए लचीला बनाया गया है।

एसएमई/एमएसएमई लोन ब्याज दरें

1. एसएमई लोन की ब्याज दर:

एसएमई लोन की ब्याज दर विभिन्न कारकों जैसे स्थान, शुद्ध आय, व्यापार स्थिरता, गिरवी, मौजूदा मासिक दायित्वों आदि के आधार पर अलग-अलग हो सकती है। यदि लोन लेने वाला किसी व्यवसाय का मालिक और स्व-नियोजित व्यक्ति है, तो एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट 11.99% प्रति वर्ष से शुरू होने वाली ब्याज दरों पर पर्सनल लोन  देता है। 

2. एमएसएमई लोन की ब्याज दर:

एमएसएमई लोन की ब्याज दर आकर्षक है। यह व्यवसाय की प्रकृति, उद्योग के प्रकार, कंपनी के अस्तित्व में आए हुए साल की संख्या, वित्तीय स्थिति आदि जैसे कई मापदंडों पर निर्भर करती है।

एसएमई और एमएसएमई लोन के लिए पात्रता मानदंड:

आप एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट की वेबसाइट से अपनी एसएमई और एमएसएमई लोन पात्रता जांच सकते हैं। सामान्य पात्रता मानदंडों में शामिल हैं:

  • आयु मानदंड: आवेदन के समय न्यूनतम 22 वर्ष और परिपक्वता के समय अधिकतम 65 वर्ष
  • व्यक्तियों के मामले में: जो व्यक्ति कम से कम तीन वर्षों से वर्तमान व्यवसाय में लगे हुए हैं और कुल पांच वर्षों का व्यावसायिक अनुभव रखते हैं। 
  • कंपनी का प्रकार: स्व-नियोजित व्यक्ति, प्रोपराइटर, प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां और निर्माण, व्यापार या सेवाओं में काम करने वाली साझेदारी फर्म।
  • टर्नओवर: प्रति वर्ष कम से कम रु. 10 लाख 
  • वित्तीय प्रदर्शन: कम से कम 2 वर्ष से लाभ में होना चाहिए
  • रु. 2 लाख प्रति वर्ष की न्यूनतम वार्षिक आय (आईटीआर) वाला व्यवसाय। 
  • आप हमारे बिजनेस लोन पात्रता कैलकुलेटर के जरिये अपनी लोन पात्रता जांच सकते हैं।

एमएसएमई/एसएमई लोन के लिए आवश्यक दस्तावेज

एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट एमएसएमई लोन और एसएमई लोन के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची यहां दी गई है:

  • एक तस्वीर, जो 6 महीने से अधिक पुरानी ना हो
  • पहचान का प्रमाण- व्यक्ति के साथ साथ व्यवसाय का पैन कार्ड देना होगा
  • व्यवसाय का वैध पता प्रमाण (जैसे व्यवसाय पंजीकरण प्रमाण पत्र) के साथ साथ आवेदक का पता प्रमाण (जैसे आधार कार्ड, पासपोर्ट प्रति, आदि)
  • फॉर्म 16 के साथ पिछले 6 महीनों का बैंक और आय विवरण
  • ऑडिटेड इनकम सारांश के साथ पिछले 2 साल का इनकम टैक्स या जीएसटी रिटर्न
  • चालू वित्त वर्ष में सकारात्मक रुझान प्रदर्शित करते हुए वार्षिक टर्नओवर के साथ पिछले 2 वर्षों के नकद लाभ की घोषणा के साथ वित्तीय विवरण
  • व्यवसाय के अस्तित्व का प्रमाण (जैसे निगमन का प्रमाण पत्र आदि)

हम लोन देने की प्रक्रिया को सहज बनाने के लिए न्यूनतम दस्तावेजीकरण के साथ लोन देने का प्रयास करते हैं।

एसएमई/एमएसएमई लोन के लिए आवेदन कैसे करें?

एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट से आप हमारी नजदीकी शाखा कार्यालय में जाकर या हमारी वेबसाइट के माध्यम से एसएमई/एमएसएमई लोन के लिए आवेदन कर सकते हैं। यदि आप लोन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, तो इन आसान चरणों का पालन करें:

  • अपना आवेदन भरें: आप ऑनलाइन आवेदन फॉर्म भरकर जमा कर सकते हैं। फॉर्म जमा करने से पहले ये देख लें कि आपने सभी प्रासंगिक व्यक्तिगत, पेशेवर और वित्तीय विवरण की सटीक रूप से जानकारी दी है। एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट को आपका आवेदन मिलने पर उपयुक्त विभाग का प्रतिनिधि निर्धारित समय-सीमा के भीतर आपसे संपर्क करेगा। इस स्तर पर सर्वोत्तम ब्याज दरों, ईएमआई और लोन अवधि के साथ सभी संभावित लोन विकल्पों पर चर्चा की जाएगी।
  • दस्तावेज अपलोड करें: एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट द्वारा आपके पूर्व-मूल्यांकन और पात्रता की पुष्टि हो जाने के बाद आप दस्तावेज अपलोड प्रक्रिया के साथ आगे बढ़ सकते हैं। यह पूरी तरह से ऑनलाइन किया जा सकता है। आप अपने सुविधाजनक समय पर घर से दस्तावेज लेने की सेवा का अनुरोध भी कर सकते हैं। ऐसा करने पर हमारा प्रतिनिधि आपसे आपके घर से दस्तावेज जमा करेगा। दस्तावेज जमा करने का काम पूरा होने के बाद एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट की संबंधित टीम सत्यापन के लिए उनकी समीक्षा करेगी।
  • लोन संवितरण: सफल सत्यापन के बाद जब एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट आपके लोन अनुरोध को मंजूरी दे देता है, तो हम आपके साथ लोन समझौते को साझा करेंगे। समझौते में ब्याज और लोन चुकौती अवधि के साथ लोन के सभी नियमों और शर्तों की जानकारी दी जाती है। एक बार जब आप समझौते पर हस्ताक्षर कर देते हैं और एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट द्वारा दस्तावेज प्राप्त कर लिया जाता है, तो लोनराशि आम तौर पर आपके बैंक खाते में 72 घंटे* के भीतर जमा कर दी जाती है।

एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट का एसएमई लोन क्यों चुनें?

1. पारदर्शी और फटाफट लोन वितरण प्रक्रिया:

हम अपनी एसएमई लोन प्रक्रियाओं को पारदर्शी रखने का प्रयास करते हैं, ताकि ग्राहक सूचित निर्णय ले सकें। हम आपकी पात्रता और लोन आवेदन आवश्यकताओं की जांच करने के लिए अपने व्यवसाय लोन पात्रता कैलकुलेटर, ईएमआई कैलकुलेटर और दस्तावेजीकरण सूची जैसे विभिन्न उपकरणों तक आसान ऑनलाइन पहुंच प्रदान करते हैं। हम रु. 75 लाख तक के एसएमई लोन प्रतिस्पर्धी ब्याज दरों पर देते हैं। इसके लिए कुछ भी गिरवी नहीं रखना होता है। हम लोन का वितरण भी आसानी से तेजी के साथ करते हैं। 

2. लोन चुकौती में लचीलापन:

हम अपने ग्राहकों को पुनर्भुगतान अनुसूची के संबंध में पर्याप्त लचीलापन प्रदान करते हैं। आप अपनी सुविधा के हिसाब से 12-48 महीनों के बीच लोन चुकौती अवधि तय कर सकते हैं। इसी तरह, यदि आप अपने लोन को समय से पहले जल्द से बंद करना चाहते हैं, तो हम बिना अतिरिक्त शुल्क* के फोर-क्लोजर विकल्प प्रदान करते हैं।

3. ऑनलाइन एसएमई लोन प्रसंस्करण:

एसएमएफजी इंडिया क्रेडिट से एसएमई लोन के लिए आवेदन करना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रियाओं के माध्यम से तेज कर दिया गया है। हम आपको आपकी योग्यता, वांछित अवधि और संबंधित दस्तावेजों के साथ लोन राशि के आधार पर उपलब्ध प्रतिस्पर्द्धी ब्याज दरों और शर्तों के साथ अनुकूलित प्रस्ताव देते हैं।

*नियम और शर्तें लागू
**फोरक्लोजर शुल्कों के अधीन। नियम और शर्तें लागू।
 

अभी आवेदन करें

Page also available inइंग्लिश - English

*कृपया ध्यान दें कि लोन एस.एम.एफ.जी इंडिया क्रेडिट के विवेक पर वितरित किए जाते हैं। अंतिम अनुमोदन, लोन शर्तें और वितरण प्रक्रिया लोन आवेदन के समय एस.एम.एफ.जी इंडिया क्रेडिट की नीति के अधीन होगी। यदि आप एक मौजूदा ग्राहक हैं और अपने लोन को अवधि से पहले चुकाना चाहते हैं, तो कृपया ध्यान दें कि अवधि से पहले लोन चुकाने की शर्तें और शुल्क अनुरोध के समय हमारी नीति के अनुसार लागू होंगे।
हम अपनी सेवाओं में पूर्ण पारदर्शिता प्रदान करने के प्रयास करते हैं। हालाँकि, कृपया ध्यान दें कि इस पृष्ठ के अंग्रेजी और हिंदी संस्करण के बीच सामग्री में किसी भी अंतर के मामले में, अंग्रेजी पृष्ठ में दी गई जानकारी को अंतिम माना जाना चाहिए।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

एसएमई क्या है?

नियामक प्राधिकरणों द्वारा निर्धारित परिभाषा के अनुसार, कुछ कंपनियों को विनिर्माण और सेवा क्षेत्र में छोटे या मध्यम उद्यमों के रूप में बांटा जाता है। निवेश की गई पूंजी और टर्नओवर के आधार पर इन उद्योगों को उप-विभाजित किया जाता है। किसी भी उद्यम को छोटा उद्यम तब कहा जाता है, जब उसमें रु. 10 करोड़ से अधिक का निवेश नहीं हुआ हो। साथ ही उसका टर्नओवर रु. 50 करोड़ से अधिक नहीं होना चाहिए। दूसरी ओर, किसी भी मध्यम उद्यम में रु. 50 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश नहीं होना चाहिए और उसका टर्नओवर रु. 150 करोड़ से अधिक नहीं होना चाहिए।

एमएसएमई क्या है?

एमएसएमई का फुल फॉर्म है- माइक्रो, स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज। एमएसएमई संस्थाओं की स्थापना सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विकास (एमएसएमईडी) अधिनियम, 2006 के तहत की जाती है। भारत की अर्थव्यवस्था में एमएसएमई महत्वपूर्ण योगदान देते हैं। इसके कारण ही उन्हें सही मायने में भारतीय अर्थव्यवस्था का रीढ़ माना जाता है। एमएसएमई माल और वस्तुओं के उत्पादन, निर्माण, प्रसंस्करण या संरक्षण में लगे हुए हैं। इसके परिणामस्वरूप देश के पिछड़े और ग्रामीण क्षेत्रों का विकास हुआ है, निर्यात में वृद्धि हुई है, औद्योगीकरण को बढ़ावा मिला है। साथ ही इससे रोजगार के अवसर भी पैदा होते हैं।

एसएमई लोन क्या है?

एसएमई लोन को एसएमई को उनकी व्यावसायिक आवश्यकताओं को पूरा करने और विस्तार, कार्यशील पूंजी और बुनियादी ढांचे/व्यवसाय विकास के लिए आवश्यक धन प्रदान करने के लिए दिए गए लोन के रूप में सर्वोत्तम रूप से परिभाषित किया जा सकता है।

एमएसएमई लोन क्या है?

एमएसएमई लोन उन उद्यमों को प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता और लाभ है, जो एमएसएमई के लिए तय पात्र मानदंडों के तहत आते हैं और उसी के अंतर्गत पंजीकृत होते हैं। यह एक संपार्श्विक-मुक्त लोन है, जो एमएसएमई को उनके बुनियादी ढांचे के निर्माण और उनकी विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुसार वित्त सहायता प्रदान करने के लिए दिया जाता है।